Difference Between Ram & Rom

Difference Between Ram & Rom

RAM

RAM का उपयोग मशीन या कंप्यूटर को डाटा उपयोग में लाने की सीधी अनुमति देता है जिससे कंप्यूटर में उपस्थित प्रोग्राम या apps आसानी से तथा शीघ्रता से कार्य करती है यही कारण है की किसी मोबाइल या कंप्यूटर में जितनी ज़्यादा रैम होती है वह उतना ही तेज कार्य करता है।

RAM का पूरा नाम Random Access Memory होता हैं. इसे Main Memory और प्राथमिक मेमोरी भी कहते हैं. RAM में CPU द्वारा वर्तमान में किये जा रहे कार्यों का डाटा और निर्देश स्टोर रहते हैं. यह मेमोरी CPU का भाग होती हैं. इसलिए इसका डाटा Direct Access किया जा सकता है.

इस कम्प्यूटर मेमोरी में डाटा और निर्देश Cells में Store रहता हैं. प्रत्येक Cell कुछ Rows एवं Columns से मिलकर बना होता हैं, जिसका अपना Unique Address होता हैं. इस युनिक एड्रेस को Cell Path भी कहते है.

 

RAM Memory (रैम मेमोरी)

What is RAM (Random Access Memory) & What's it Do? | AVG

1. यह रैंडम एक्सेस मेमोरी है |
2. इसमें यूजर द्वारा सूचनाओं को लिखा व पढ़ा जा सकता है|
3. यह कंप्यूटर की volatile मेमोरी होती है|
4. कंप्यूटर के बंद होते हैं इसमें संग्रह की सूचनाएं नष्ट हो जाती हैं|
5. इसमें सूचनाओं को पढ़ने एवं लिखने का कार्य यूज़र द्वारा होता है|
6. यह दो प्रकार के होते हैं स्टेटिक रैम और डायनामिक रैम|

CPU इन Cells से अलग-अलग डाटा प्राप्त कर सकता हैं. और वो भी बिना Sequent के मतलब RAM में उपलब्ध डाटा को Randomly Access किया जा सकता हैं. शायद इसी विशेषता के कारण इस मेमोरी का नाम Random Access Memory रखा गया हैं.

RAM एक Volatile Memory होती हैं. इसलिए इसमे Store Data हमेशा के लिए स्टोर नही रहता है. जब तक RAM में Power Supply On रहती है. तब तक डाटा रहता हैं. Computer Shut Down होने पर RAM का सारा डाटा स्वत: डिलित हो जाता हैं.



ROM Memory (रोम मेमोरी)

What is ROM? - Quora

1. यह रीड ओनली मेमोरी है|
2. इसमें यूज़र द्वारा सूचनाओं को केवल पढ़ा जा सकता है|
3. यह कंप्यूटर की नॉन वोलेटाइल मेमोरी है|
4. कंप्यूटर के बंद होने पर भी इस में संग्रहित सूचनाएं यथावत बनी रहती हैं|
5. इसमें सूचनाएं लिखने का कार्य कंप्यूटर निर्माता कंपनी के द्वारा होता है जैसे बायोस प्रोग्राम|
6. यह तीन प्रकार के होते हैं PROM, EPROM, EEPROM|

ROM का पूरा नाम Read Only Memory होता है. इसका डाटा केवल पढ़ा जा सकता है. इसमें नया डाटा जोड़ नहीं सकते हैं. यह एक Non-Volatile Memory होती है. इस मेमोरी में कम्प्यूटर फंक्शनेलिटी से संबंधित दिशा निर्देश स्टोर रहते है.

कम्प्यूटर को चालु करना के निर्देश इसी मेमोरी में स्टोर रहते है. जिसे “Booting” कहा जाता है. कम्प्यूटर के अलावा वॉशिंग मशीन, माइक्रोवेव ओवन एवं अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को ROM द्वारा ही प्रोग्राम्ड किया जाता है.

 



RAM में हम पढ़ना और लिखना (reading and writing ) ऑपरेशन कर सकते है।

रैम एक वोलेटाइल मेमोरी की तरह कार्य करता अर्थात जब कंप्यूटर को बंद किया जाता है तो RAM का डाटा ख़त्म हो जाता है अर्थात इसमें कुछ भी सेव नहीं होता।

RAM दो प्रकार की होती है

static RAM (स्थिर रैम )

Dynamic RAM (गतिशील रैम)

RAM का उपयोग ऑपरेटिंग सिस्टम , प्रोसेस और प्रोग्राम के लिए किया जाता है।

ROM क्या है ?

ROM की full form है read only memory (रीड ओनली मेमोरी) , रोम का उपयोग भी data को store करने में किया जाता है।  इसमें जो डाटा स्टोर रहता है वह मशीन या कंप्यूटर द्वारा सिर्फ पढ़ा जा सकता है लेकिन change नहीं किया जा सकता इसलिए इसे read only memory कहते है।

ROM में सिर्फ पढ़ना (reading) operation ही हो सकता है।

ROM में प्राय: instruction (संकेत) वाला डाटा स्टोर होता है जैसे जब किसी कंप्यूटर को शुरू किया जाता है तो उसमे booting शुरू हो जाती है इससे सम्बन्धित जानकारी या instructions कंप्यूटर की ROM में सुरक्षित रहती है और ये कंपनी द्वारा ROM में पहले ही store कर दी जाती है जिसको बाद में बदला नहीं जा सकता केवल कंप्यूटर द्वारा पढ़ा जा सकता है।

रोम नॉन वोलेटाइल मेमोरी होती है अर्थात जब कम्प्यूटर सिस्टम को बंद किया जाता है तो भी डाटा इसमें सेव रहता है अर्थात बंद करने पर डाटा डिलीट नहीं होता।

रोम का उपयोग बूटिंग के लिए किया जाता है क्यूंकि इसमें बूटिंग संबंधी प्रोग्राम save रहता है।

ये निम्न प्रकार के हो सकते है PROM, EPROM and EEPROM ।

RAM और ROM में अन्तर क्या है

रेम तथा रोम में निम्न अंतर है

 RAM  ROM
 पूरा नाम रैंडम एक्सेस मेमोरी  पूरा नाम रीड ओनली मेमोरी
 ऑपरेशन – पढ़ना और लिखना  ऑपरेशन – सिर्फ पढ़ना
 डाटा बदला जा सकता है। डाटा बदला नहीं जा सकता
 प्रोग्राम , ऑपरेटिंग सिस्टम को run करने में इसका डाटा काम में लिया जाता है।  सिस्टम को शुरू करने अर्थात बूटिंग में इसमें save डाटा का उपयोग किया जाता है।
 सिस्टम बंद करने पर डाटा डिलीट हो जाता है।  सिस्टम को बंद करने पर भी डाटा save रहता है।
 इसकी size कम होती है।  साइज बहुत अधिक तक हो सकती है।
 प्रकार – static , dynamic  प्रकार – PROM, EPROM and EEPROM

ROM की विशेषताएँ – Characteristics of Computer ROM in Hindi

  • ROM एक स्थाई मेमोरी होती हैं.
  • Basic Functionality के निर्देश स्टोर रहते हैं.
  • केवल Readable होती हैं.
  • RAM की तुलना में सस्ती होती हैं.
  • सी पी यू मेमोरी का भाग होती है.

ROM के विभिन्न प्रकार – Types of ROM in Hindi

  1. MROM
  2. PROM
  3. EPROM
  4. EEPROM

1. MROM

MROM का पूरा नाम Mask Read Only Memory होता हैं. इसे Manufactures द्वारा डिवाइस में ही Programed किया जाता हैं. MROM अन्य ROMs की तुलना में सस्ती और कम स्पेस में ज्यादा डाटा स्टोर करने की क्षमता प्रदान करती हैं. मतलब इसकी Data Store Density अधिक होती हैं.

2. PROM

PROM का पूरा नाम Programmable Read Only Memory होता हैं. इस Memory Chip में डाटा एक बार Write किया जाता हैं. जो हमेशा बरकरार रहता हैं.

इस ROM में Data Write करने के लिए विशेष उपकरणॉं का इस्तेमाल किया जाता हैं. इन्हे PROM Programmer या PROM Burner भी कहा जाता हैं. और PROM में Data Write करने की प्रक्रिया को PROM Burning कहा जाता है.

3. EPROM

इसका पूरा नाम Erasable Programmable Read Only Memory होता हैं. जैसा इसके नाम से स्पष्ट होता हैं. इस ROM में उपलब्ध डाटा को Erase यानि मिटाया भी जा सकता है. डाटा को मिटाने के लिए Ultra-Violet Light का इस्तेमाल किया जाता है.

4. EEPROM

EEPROM का पूरा नाम Electrically Erasable Programmable Read Only Memory होता हैं. जिसका डाटा किसी Electrical Charge द्वारा मिटाया जा सकता हैं. यह अन्य ROMs से थोडी धीमी होती है.



प्रश्न : कम्प्यूटर का कौनसा भाग प्रोसेसिंग के लिए जिम्मेदार है ?

उत्तर : प्रोसेसर

प्रश्न : लेजर किरणों का प्रयोग करते हुए कौनसी डिस्क बनाई गयी है ?

उत्तर : सीडी रोम

प्रश्न : कोमल/लचीला (सेक्टर वाली) डिस्क सम्बन्धित है ?

उत्तर : हार्ड डिस्क और फ्लोपी डिस्क

प्रश्न : हार्ड डिस्क में “0” ट्रेक होता है ?

उत्तर : बाहरी तरफ

प्रश्न : निम्न में से स्थायी मैमोरी है ?

उत्तर : हार्ड डिस्क , मैग्नेटिक टेप , ऑप्टिकल डिस्क

प्रश्न : रैम का पूरा नाम है ?

उत्तर : रैंडम एक्सेस मैमोरी

प्रश्न : मैन मेमोरी होती है ?

उत्तर : अस्थायी

प्रश्न : कंप्यूटर मैमोरी मुख्यतः कितने प्रकार की होती है ?

उत्तर : दो

प्रश्न : एक बाईट में कितने बिट होते है ?

उत्तर : 8

प्रश्न : कम्प्यूटर में सुचना की सबसे छोटी इकाई है।

उत्तर : बिट

Cpct Exam 2021 Questions

Cpct 2021 Mock Test

English Typing Matter 02

Open office kya Hota hai in Hindi

 

sgsi share

इसी तरह से जानकारी रोज पाने के लिए Sgsi  Dictation Club को follow करे Facebook, Telegram पर और Subscribe करे YouTube Channel को |

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
4 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
trackback
2 months ago

[…] Difference Between Ram & Rom […]

trackback
1 month ago

[…] Difference Between Ram & Rom […]

trackback
1 month ago

[…] Difference Between Ram & Rom […]

trackback
1 month ago

[…] Difference Between Ram & Rom […]

4
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x